Salient points of the press conference : BJP National Spokesperson Shri Gaurav Bhatia


द्वारा श्री गौरव भाटिया -
25-11-2022
Press Release

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री गौरव भाटिया की प्रेसवार्ता के मुख्य बिन्दु

***********

कट्टर भ्रष्टाचारी गब्बर अरविन्द केजरीवाल और भ्रष्टाचारी बब्बर के कारनामे

 ***********

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री गौरव भाटिया ने आज भाजपा दिल्ली प्रदेश के कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में सीवीसी रिपोर्ट के हवाले से सरकारी स्कूलों में नए क्लास रूम निर्माण एवं रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्लांट निर्माण घोटाले के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया और अरविंद केजरीवाल से इस्तीफे की मांगी की।

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली यूनिट अरविंद केजरीवाल के गंदे मंसूबों को कभी पूरा होने नहीं देगी। भाजपा बच्चों को अच्छे स्कूल, स्वचछ वातावरण और शिक्षा का अधिकार सुनिश्चित कराएगी, जबकि अरविंद केजरीवाल टॉयलेट में बिठाकर बच्चों को पढ़ाना चाहते है।

 

आम आदमी पार्टी के नेता दिल्ली से बाहर जाकर अपने प्रचार में गब्बर! गब्बर! का नाम लेते हैं। केन्द्रीय विजिलेंसे कमीशन (सीवीसी) की रिपोर्ट आयी तो सबको “गब्बर” और “बब्बर” की जानकारी मिली। “भ्रष्टाचारी गब्बर” तो अरविंद केजरीवाल ही हैं। केजरीवाल के घनिष्ठ दोस्त और ठेकेदार बब्बर एडं बब्बर एसोसिएटस  नए क्लास रूम और रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम निर्माण में घोटाले करके उनके तिजोरी भरते हैं। केजरीवाल जी की प्राथमिकता में बच्चों की शिक्षा नहीं, जो हमारे बच्चों के लिए सबसे महत्वपूर्ण है, केजरीवाल जी की चिंता सिर्फ और सिर्फ कालाधन बंटोरना है। अरविन्द केजरीवाल को बनाने थे “क्लास रूम” और वे  बना रहे थे “बार रूम” ।

 

·        सीवीसी रिपोर्ट के अनुसार स्कूलों में सिर्फ दो रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाए गए, जबकि 29 रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्लांट लगाने की राशि का भुगतान भी कर दिए गए। केजरीवाल सरकार अपने दोस्त ठेकेदार बब्बर एडं बब्बर को रुपए बढ़ाकर “वर्क टेंडर” देते हैं और पूरा भुगतान भी कर देते हैं, भले ही काम पूरा हो या नहीं हो।

 

·        सीवीसी रिपोर्ट देखने से लगता है कि बब्बर एडं बब्बर ने भ्रष्टाचारी गब्बर से कहता है कि स्कूलों में रेनवाटर हार्वेस्टिंग होगी तो कालाधन बढ़ेगा और आपकी तिजोरी भरेगी, तब अरविंद केजरीवाल 29  रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने की अनुमति दे दी जाती है।

 

·        “आप” नेता दिल्ली के बाहर निकल कर प्रचार में गब्बर! गब्बर! की चर्चा कर रहे थे तब सब लोगों जानना चाह रहे थे यह गब्बर कौन है? सीवीसी की रिपोर्ट आने के बाद सब लोग जान गए कि भ्रष्टाचारी गब्बर कौन है। 50-50 कोस दूर चलकर जब स्कूली बच्चे अपने टीचर से पूछते हैं कि टीचर! टीचर! हमारा क्लास रूम कहां है? स्कूल टीचर कहती है बच्चे चुप हो जा, यह टॉयलेट ही क्लास रूम है। ज्यादा बोला तो भ्रष्टाचारी गब्बर अरविंद केजरीवाल आ जाएगा। भ्रष्टाचारी गब्बर से बच्चों में डर है क्योंकि अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के बच्चों से नफरत करते हैं। गब्बर केजरीवाल कहता है कि बच्चों टॅयलेट सीट ही तुम्हारी कुर्सी है और यही क्लास रूम है क्योंकि जब टायलेट को क्लास रूम बता दिया तो केजरीवाल के दोस्त ठेकेदार को टॉयलेट बनाने के लिए ज्यादा पैसा मिलेंगे।

 

·        बताते हैं कि भ्रष्टाचारी गब्बर केजरीवाल जी बब्बर को स्कूलों में भेजते हैं, जो बब्बर एंड बाबर एसोसिएटस मंत्री के ऑफिस में बैठकर बताता है कितने क्लास रूम बनेंगे, कौन कौन सी सुविधाएं होंगी और मेरी ही कंपनी यह काम करेगी। कट्टर बेईमान एवं महाभ्रष्टाचारी अरविंद केजरीवाल और बब्बर एडं बब्बर एसोसिएट मिलकर स्कूलों में क्लास रूम बनाने के लिए वर्क आर्डर का टर्म एडं कंडीशन और लागत निर्धारित करते हैं। जबकि सीवीसी और सीपीडब्ल्यूडी गाईडलाइन में  स्पष्ट है कि निर्धारित राशि से अधिक राशि होने पर सार्वजनिक निविदा जारी करना आवश्यक है, ताकि जनहित का कार्य कम लागत में पूरा हो सके।

 

सीवीसी के पास जब क्लास रूम निर्माण घोटाले की शिकायत की गयी तो सीवीसी ने दिल्ली सरकार से जबाव मांगा, किन्तु ढाई साल तक दिल्ली सरकार इस शिकायत की फाइल पर कोई कार्रवाई नहीं की। अंततः, दिल्ली के उप राज्यपाल ने इस मामले में रिपोर्ट मांगी और तब दिल्ली के मुख्य सचिव के पास घोटाले की रिपोर्ट पहुंची। दूसरी ओर, सीएम अरविंद केजरीवाल संवैधानिक पद पर बैठे दिल्ली के उप राज्यपाल के लिए लगातार अमर्यादित भाषा बोलने में लगे रहते हैं। 

 

भारतीय जनता पार्टी ने अरविंद केजरीवाल से स्कूलों के नए क्लास रूम और रेनवाटर हावेस्टिंग प्लांट निर्माण घोटाले को लेकर कुछ सवाल पूछे और अविलंब जबाव देने की मांग की -

 

·        पहला सवाल - अरविंद केजरीवाल जी ढाई साल तक इस शिकायत पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं की?  क्या अरविंद केजरीवाल के इशारे पर उनके भ्रष्ट मंत्री जनता का रुपए लूट खसोट कर रहे थे? 

 

·        दूसरा सवाल - क्लास रूम बनाने के लिए कई हजार करोड़ रुपए का निर्माण कार्य था, तब इसकी कार्य निविद क्यों नहीं निकाली गयी?  

 

·        तीसरा सवाल - बगैर निविदा का कार्य आर्डर देना, क्या सीवीसी गाईडलाइन और सीपीडब्ल्यूडी  का उल्लंघन नहीं है?

 

·        चौथा सवाल - स्कूलों में नए क्लास रूम बनाने एवं रेनवाटर हार्वेस्टिंग के निर्माण के कंसल्टेंट कंपनी बब्बर एडं बब्बर एसोसिएटस और अरविंद केजरीवाल के बीच ऐसी क्या घनिष्ठता है कि उसने दिल्ली सरकार के मंत्री के कार्यालय में बैठ कर क्लास रूम बनने की संख्या और लागत निर्धारित करता है?   

 

·        पांचवा सवाल - दिल्ली सरकार के डॅायरेक्टरेट आफ विजिलेंस रिपोर्ट में भी शिक्षा मंत्रालय में लूट खसोट का मामला उजागर हुआ है, तो क्या अरविंद केजरीवाल अपने भ्रष्ट मंत्री को बर्खास्त करेंगे? क्या केजरीवाल जी के सिकुड़े हुए कंधे अपने जिम्मेदारियों का बोझ उठा नहीं पा रहे हैं?   

 

·        छठा सवाल -  अरविंद केजरीवाल जी इस मामले पर चुप्पी कब तोड़ेंगे? यदि वे चुप्पी साधे रहते हैं तो यह मान लिया जाएगा कि अरविंद केजरीवाल जी के इशारे पर ही घोटाले हुए हैं, किंगपिन वही हैं।

 

·        सातवां सवाल - शिक्षा मंत्री एवं आबकारी मंत्री और शराब घोटाले के प्रथम आरोपी उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को अबतक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया?  

 

·        आठवां सवाल -  पिछले पांच महीने से जेल में बंद मनी लॉंडिंग के आरोपी स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन को अबतक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया?  

 

यह दर्शाता है कि अरविंद केजरीवाल जी शुचिता को ताक पर रखकर हर भ्रष्टाचार में रूचि रखते हैं और नए क्लास रूम बनाने में 1300 करोड़ रुपए का घोटाले करवाते हैं।  कुछ दिन पहले हमारी बच्ची का रेप हुआ था और आरोपी पर पोक्सो एक्ट की धारएं लगी थी। केजरीवाल जी के मंत्री सत्येन्द्र जैन उस आरोपी से मसाज कराते हैं। भारतीय जनता पार्टी मांग करती है कि अरविंद केजरीवाल जी स्कलों के नए क्लास रूम निर्माण घोटाले में आयी सीवीसी रिपोर्ट पर अपनी सफाई दे या इस्तीफा दें।

To Write Comment Please लॉगिन