bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा जनरक्षा यात्रा के पहले दिन पिलथारा, केरल में आयोजित जनसभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने देश से जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टीकरण की राजनीति को समाप्त करने का काम किया है और आज केरल के हजारों कार्यकर्ताओं ने कम्युनिस्ट हिंसा की राजनीति को समाप्त करने की शुरुआत की है ************

केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में सालों से कम्युनिस्ट पार्टियों ने हिंसा की राजनीति चलाई है लेकिन अब देश की जनता हिंसा की राजनीति को सहन नहीं करेगी और हिंसा की राजनीति को समाप्त करने की मुहिम का नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को करना चाहिए ************

यह जनरक्षा यात्रा जिस दिन त्रिवेंद्रम में समाप्त होगी, उसी दिन वामपंथी पार्टियों की हिंसा की राजनीति के पतन की भी शुरुआत हो जायेगी ************

आगामी 17 अक्टूबर तक यह यात्रा चलने वाली है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और केरल की जनता का काम तब तक पूरा नहीं होगा जब तक कि कम्युनिस्ट सरकार को हम केरल से उखाड़ कर फेंक नहीं देते हैं। ************

आज जो कार्यकर्ता हमारे बीच नहीं हैं, उनके परिवार का दुःख हमारा दुःख होना चाहिए, उनकी परिवार की चिंता हमारी चिंता होनी चाहिए और उनका बलिदान व्यर्थ न जाए, इसकी चिंता हमारी चिंता होनी चाहिए ************

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हिंसा की राजनीति के सामने केरल की जनता को लोकतांत्रिक तरीके से संगठित करें एवं लाल आतंक के खिलाफ मोर्चा लेकर पूरे दमखम के साथ लोकतांत्रिक लड़ाई लड़ें और केरल में परिवर्तन करें ************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज पयान्नूर, केरल में भाजपा एवं विचार परिवार के कार्यकर्ताओं पर लगातार हो रहे हिंसक हमलों के खिलाफ जनरक्षा यात्रा की शुरुआत की। ज्ञात हो कि 15 दिनों की यह जनरक्षा यात्रा आज पयान्नूर से शुरू हुई है जो 17 अक्टूबर को तिरुअनंतपुरम से समाप्त होगी। आज भाजपा अध्यक्ष ने पयान्नूर से एझिलोड होते हुए पिलाथारा तक लगभग 9 किलोमीटर लंबी पदयात्रा का नेतृत्व किया। पदयात्रा करने के बाद उन्होंने पिलाथारा में एक जनसभा को संबोधित किया और कार्यकर्ताओं का हिंसा की राजनीति के सामने केरल की जनता को लोकतांत्रिक तरीके से संगठित करने का आह्वान किया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने देश से जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टीकरण की राजनीति को समाप्त करने का काम किया है और आज केरल के हजारों कार्यकर्ताओं ने कम्युनिस्ट हिंसा की राजनीति को समाप्त करने की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में सालों से कम्युनिस्ट पार्टियों ने हिंसा की राजनीति चलाई है लेकिन अब देश की जनता हिंसा की राजनीति को किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि हिंसा की राजनीति को समाप्त करने की मुहिम का नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को करना चाहिए।

श्री शाह ने कहा कि यह जनरक्षा यात्रा केरल में पयान्नूर से त्रिवेंद्रम तक चलने वाली है, यह यात्रा देश भर में चलने वाली है और देश की राजधानी दिल्ली में भी चलने वाली है। उन्होंने कहा कि यह जनरक्षा यात्रा जिस दिन त्रिवेंद्रम में समाप्त होगी, उसी दिन वामपंथी पार्टियों की हिंसा की राजनीति के पतन की भी शुरुआत हो जायेगी। उन्होंने केरल की जनता से अपील करते हुए कहा कि आगामी 17 अक्टूबर तक चलने वाली इस जनरक्षा यात्रा का समर्थन कीजिये और हिंसा की राजनीति करने वाली कम्युनिस्ट पार्टियों को केरल से उखाड़ फेंकने में भारतीय जनता पार्टी की मदद कीजिये।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश में पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस की राजनीति की शुरुआत की है, विकास की राजनीति की शुरुआत की है और पूरा देश इस राजनीति को स्वीकार कर रहा है, आज देश के 80% भू-भागों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। उन्होंने कहा कि आज जनरक्षा यात्रा का पहला दिन समाप्त हुआ है, आगामी 17 अक्टूबर तक यह यात्रा चलने वाली है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और केरल की जनता का काम तब तक पूरा नहीं होगा जब तक कि कम्युनिस्ट सरकार को हम केरल से उखाड़ कर फेंक नहीं देते हैं।

श्री शाह ने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि आज जो कार्यकर्ता हमारे बीच नहीं हैं, उनके परिवार का दुःख हमारा दुःख होना चाहिए, उनकी परिवार की चिंता हमारी चिंता होनी चाहिए और उनका बलिदान व्यर्थ न जाए, इसकी चिंता हमारी चिंता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं केरल भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को हृदय से अपील करना चाहता हूँ कि वे पूरे राज्य में फ़ैल जाएँ और हिंसा की राजनीति के सामने केरल की जनता को लोकतांत्रिक तरीके से संगठित करें एवं लाल आतंक के खिलाफ मोर्चा लेकर पूरे दमखम के साथ लोकतांत्रिक लड़ाई लड़ें और केरल में परिवर्तन करें।

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

Tag: 17 | 9

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter