bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

 

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में शक्ति केंद्र प्रमुख सम्मेलन और कसिबुग्गा, पलासा में आयोजित जन-सभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

 

चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र की जनता को गुमराह करने का कुत्सित प्रयास किया है। चंद्रबाबू नायडू ने इतनी बार अपना स्टैंड बदला है कि देश की जनता उन्हें यू-टर्न मुख्यमंत्री के रूप में जानने लगी है

*******************

एनडीए में अब चंद्रबाबू नायडू के लिए सभी दरवाजे बंद हो चुके हैं, अब एनडीए में उनके लिए कोई जगह नहीं है

*******************

आज चंद्रबाबू नायडू जिस कांग्रेस की गोद में बैठे हुए हैं, उस कांग्रेस की केंद्र सरकारों ने आंध्र प्रदेश के लिए 55 साल में जो किया, उससे लगभग 10 गुना ज्यादा आंध्र प्रदेश का विकास करने का काम मोदी सरकार ने किया है

*******************

आंध्र प्रदेश के री-ऑर्गेनाइजेशन के 14 प्रमुख बिंदु थे जिसे 10 वर्षों में पूरा किया जाना था लेकिन प्रधानमंत्री श्री नेरन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने केवल पांच वर्षों में 14 में से 10 महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा कर दिया है

*******************

मोदी सरकार ने 20 बड़े इंस्टिट्यूशन पिछले पांच वर्षों में आंध्र प्रदेश के लिए दिए हैं जिसमें IIT, IIM, AIIMS, NIT, सेन्ट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ प्लास्टिक एंड इंजीनियरिंग, कृषि विश्वविद्यालय, नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, NCERT सेंटर, नेशनल कामधेनु ब्रीडिंग सेंटर, पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी जैसी संस्थाएं प्रमुख हैं

*******************

13वें वित्त आयोग में सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार ने आंध्र प्रदेश को 1,17,900 करोड़ रुपये की राशि दी जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग में आंध्र प्रदेश के लिए 2,44,000 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है। अन्य परियोजनाओं में दी गई राशि को मिलाकर आंध्र को विकास के लिए कुल 5,56,985 करोड़ रुपये की राशि दी गई है

*******************

चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश की जनता को जवाब दें कि आखिर आपने कांग्रेस के 1,17,900 करोड़ रुपये की जगह आंध्र प्रदेश के लिए 5,56,985 करोड़ रुपये देने वाली मोदी सरकार का साथ क्यों छोड़ा? स्पष्ट है कि चंद्रबाबू नायडू और विकास का कोई लेना देना नहीं है, उनका कनेक्शन तो करप्शन से है

*******************

आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस दिए जाने से विकास के लिए जितना फंड मिलने वाला था, उससे कहीं अधिक देने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी तैयार थे, चंद्रबाबू ने स्वयं आंध्र प्रदेश की विधान सभा में इसका स्वागत भी किया था लेकिन चंद्रबाबू ने योजनायें केंद्र सरकार को भेजी ही नहीं

*******************

जब चंद्रबाबू नायडू को लगने लगा कि उनके सरकार चलाने के तरीके, अपने बेटे को आंध्र का अगला मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने और राजधानी अमरावती के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार से जनता नाराज है तो वे लोगों की सहानुभूति प्राप्त करने के लिए एनडीए से अलग हो गए

*******************

चंद्रबाबू नायडू जी, मैं गारंटी के साथ कहता हूँ कि आपने झूठ बोल कर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का साथ छोड़ा है लेकिन आंध्र प्रदेश की जनता आपको स्वीकार नहीं करने वाली

*******************

चंद्रबाबू नायडू और वाईएसआर, दोनों की पार्टियां परिवारवादी पार्टियां हैं, भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई पार्टियां हैं, अतः ये दोनों आंध्र प्रदेश का भला नहीं कर सकती, भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लगा सकती, यह केवल और केवल प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है।

*******************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी 01 फरवरी, 2019 को संसद मेंबजट 2019' लेकर आये जिसमें देश के सभी लघु एवं सीमान्त किसानों को हर वर्ष 6,000 सीधे एकाउंट में इनपुट सहायता के रूप में देने का निर्णय लिया है

*******************

40 लाख रुपये के टर्नओवर वाले व्यापारियों को जीएसटी और पांच लाख रुपये तक की सालाना आय वाले मध्यम वर्ग के लोगों को आयकर भरने से छूट दी गई है

*******************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश को सुरक्षित और समृद्ध बनाते हुएसबका साथ, सबका विकास' के सिद्धांत के साथ विकास को जन-जन तक पहुंचाया है

*******************

आंध्र प्रदेश की जनता भाजपा को इतना मजबूत बनाएं कि आंध्र प्रदेश में कोई सरकार भारतीय जनता पार्टी की भागीदारी के बिना संभव न हो, मैं आपको आश्वस्त करता हूँ कि भाजपा के समर्थन से बनने वाली आंध्र सरकार भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करेगी

*******************

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में शक्ति केंद्र प्रमुख सम्मेलन और कसिबुग्गा, पलासा में आयोजित विशाल जन-सभा को संबोधित किया और राज्य की भ्रष्टाचारी तेलुगुदेशम सरकार पर जम कर प्रहार किया। उन्होंने आज तेलंगाना भाजपा के अध्यक्ष की बस यात्रा का शुभारंभ भी किया। ये यात्रा आंध्र प्रदेश के हर विधानसभा से हो कर गुजरेगी और इसके माध्यम से आंध्र की जनता के सामने राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू के हर झूठ को बेनकाब किया जाएगा।

 

चंद्रबाबू नायडू का विश्वासघात करने की राजनीति का सफर

 

श्री शाह ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र की जनता को गुमराह करने का कुत्सित प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि मैं राज्य की जनता को श्री चंद्रबाबू नायडू के राजनीतिक सफ़र के बारे में बताना चाहता हूँ। चंद्रबाबू नायडू ने इतनी बार अपना स्टैंड बदला है कि देश की जनता उन्हें यू-टर्न मुख्यमंत्री के रूप में जानने लगी है। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायडू ने अपने राजनीतिक सफ़र की शुरुआत कांग्रेस के एक विधायक के रूप में की थी। उसके बाद में सत्ता का सुख भोगने महान एनटीआर से जुड़े, तेलुगु देशम पार्टी में शामिल हुए लेकिन जैसे ही मौक़ा मिला, उन्होंने राजनीति में उन्हें आगे बढ़ाने वाले एनटीआर को धोखा देकर पूरी तेलुगुदेशम पार्टी को हड़प लिया। फिर, जैसे ही केंद्र में श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी के नेतृत्व में भाजपा-नीत एनडीए सरकार बनी तो वे एनडीए में आ गए और छः सालों तक सत्ता का सुख भोगा। 2004 में जैसे ही अटल जी की सरकार गई तो चंद्रबाबू नायडू ने भी 2005 में एनडीए को अलविदा कह दिया। 10 वर्षों तक दर-दर भटकने के बाद जब चंद्रबाबू को यह लगने लगा कि वे नरेन्द्र मोदी के बगैर सत्ता में नहीं आ सकते तो वे फिर श्री नरेन्द्र मोदी जी के साथ आ गए जबकि पहले वे मोदी जी का विरोध कर रहे थे। अब फिर से चंद्रबाबू नायडू झूठा इल्जाम लगा कर एनडीए छोड़कर उस कांग्रेस के साथ मिल गए जिसने कदम-कदम पर आंध्र प्रदेश के साथ अन्याय किया। जो तेलुगुदेशम पार्टी कांग्रेस की नीतियों के विरोध में अस्तित्व में आई थी, जिसने हमेशा तेलुगु गौरव और तेलुगु अस्मिता का अपमान किया। अब जब तेलंगाना में कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लड़ने के बावजदू उनका सूपड़ा साफ़ हो गया है तो चंद्रबाबू फिर से कांग्रेस का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ मिल रहे हैं।

 

एनडीए के दरवाजे चंद्रबाबू नायडू के लिए बंद

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इस बात की पूरी संभावना है कि 2019 के लोक सभा चुनाव की काउंटिंग के बाद जैसे ही फिर से एनडीए की सरकार बनेगी और श्री नरेन्द्र भाई मोदी देश के प्रधानमंत्री बनेंगे तो चंद्रबाबू नायडू फिर से एनडीए में शामिल होने की कोशिश करेंगे लेकिन मैं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि एनडीए में अब चंद्रबाबू नायडू जी के लिए सभी दरवाजे बंद हो चुके हैं, अब एनडीए में उनके लिए कोई जगह नहीं है।

 

आंध्र प्रदेश के साथ कांग्रेस ने किया हमेशा अन्याय

 

श्री शाह ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के साथ मोदी सरकार के अन्याय की बात करते हैं लेकिन मैं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री को चुनौती देता हूँ कि वे इसे साबित करें। उन्होंने कहा कि आज चंद्रबाबू नायडू जिस कांग्रेस की गोद में बैठे हुए हैं, उस कांग्रेस ने 55 साल तक देश में शासन किया लेकिन कांग्रेस की 55 साल की सरकार ने आंध्र प्रदेश के लिए 55 साल में जो किया, उससे लगभग 10 गुना ज्यादा आंध्र प्रदेश का विकास करने का काम मोदी सरकार ने किया है।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आंध्र प्रदेश के री-ऑर्गेनाइजेशन के 14 प्रमुख बिंदु थे जिसे 10 वर्षों में पूरा किया जाना था लेकिन प्रधानमंत्री श्री नेरन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने केवल पांच वर्षों में 14 में से 10 महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा कर दिया है।         

 

आंध्र प्रदेश के विकास के लिए मोदी सरकार द्वारा किये गए कार्य

 

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आंध्र प्रदेश के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किये हैं। मोदी सरकार ने 20 बड़े इंस्टिट्यूशन पिछले पांच वर्षों में आंध्र प्रदेश के लिए दिए हैं जिसमें IIT, AIIMS, NIT, NIOT, सेन्ट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ प्लास्टिक एंड इंजीनियरिंग, कृषि विश्वविद्यालय, नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, NCERT सेंटर, नेशनल कामधेनु ब्रीडिंग सेंटर, पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी जैसी संस्थाएं प्रमुख हैं। इसके अतिरिक्त मेडिकल की सीटों में 950 से ज्यादा सीटों की वृद्धि की गई। साथ ही आंध्र प्रदेश को दूरदर्शन सेंटर, आकाशवाणी सेंटर, पासपोर्ट कार्यालय, एकेडमी ऑफ कस्टम एंड नारकोटिक्स भी आंध्र प्रदेश में दिए गए।

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि 13वें वित्त आयोग में सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार ने आंध्र प्रदेश (वर्तमान) के विकास के लिए महज 1,17,900 करोड़ रुपये की राशि दी जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग में आंध्र प्रदेश के लिए 2,44,000 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है। इसके अतिरिक्त रेवेन्यू गैप फंडिंग के तौर पर 4100 करोड़, डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड के तौर पर 612 करोड़, भारतमाला परियोजना के तहत 44,000 करोड़, सागरमाला परियोजना के तहत 1,64,000 करोड़, 31 सेन्ट्रल प्रोजेक्ट्स के इए 3,09,000 करोड़, नेशनल इम्पोर्टेंस के प्रोजेक्ट्स के लिए 15,000 करोड़ और मुद्रा योजना के तहत 28,000 करोड़ रुपये, कुल मिलाकर 5,56,985 करोड़ रुपये की राशि आंध्र प्रदेश के लिए देने का काम मोदी सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश के विकास के लिए महज 117900 करोड़ रुपये की राशि दी जबकि भारतीय जनता पार्टी ने राज्य के लिए 5,56,985 करोड़ रुपये दिया है लेकिन चंद्रबाबू नायडू को कांग्रेस अच्छा लगता है।

 

चंद्रबाबू नायडू जवाब दें विकास के प्रति समर्पित मोदी सरकार का साथ क्यों छोड़ा?

 

श्री शाह ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश की जनता को जवाब दें कि आखिर आपने कांग्रेस के 1,17,900 करोड़ रुपये की जगह आंध्र प्रदेश के लिए 5,56,985 करोड़ रुपये देने वाली मोदी सरकार का साथ क्यों छोड़ा? स्पष्ट है कि चंद्रबाबू नायडू और विकास का कोई लेना देना नहीं है, उनका कनेक्शन तो करप्शन से है। चंद्रबाबू नायडू आंध्र की जनता को जवाब दें कि उन्होंने अपने रायलसीमा क्षेत्र में मुख्यमंत्री रहते हुए पिछले 14 साल में क्या एक भी एग्रीकल्चर प्रोजेक्ट शुरू किया है? उन्होंने कहा कि तेलुगुदेशम पार्टी के नेताओं और स्वयं चंद्रबाबू नायडू से कई दौर की मीटिंग हुई। आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस दिए जाने से विकास के लिए जितना फंड मिलने वाला था, उससे कहीं अधिक देने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी तैयार थे लेकिन चंद्रबाबू नायडू ने योजनायें बनाकर केंद्र सरकार को भेजा ही नहीं जिसके कारण आंध्र प्रदेश के विकास के लिए पैसा धरा का धरा रह गया।तना ही नहीं, मोदी सरकार के इस प्रोपोजल का चंद्रबाबू नायडू ने स्वयं आंध्र प्रदेश की विधान सभा में स्वागत भी किया था। लेकिन जब चंद्रबाबू नायडू को लगने लगा कि उनके सरकार चलाने के तरीके से आंध्र प्रदेश की जनता नाराज है, अपने बेटे को आंध्र का अगला मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने से राज्य की जनता नाराज है, अमरावती के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार से जनता नाराज है, डैम के निर्माण में हुए घोटाले से राज्य की जनता नाराज है तो वे लोगों की सिम्पेथी प्राप्त करने के लिए एनडीए से अलग हो गए।

 

चंद्रबाबू नायडू और वाईएसआर की पार्टी आंध्र का विकास नहीं कर सकती

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू जी, मैं गारंटी के साथ कहता हूँ कि आपने झूठ बोल कर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का साथ छोड़ा है लेकिन आंध्र प्रदेश की जनता आपको स्वीकार नहीं करने वाली। हम आज यात्रा लेकर निकलने वाले हैं। ये यात्रा आंध्र प्रदेश की हर विधान सभा से होकर गुजरेगी और चंद्रबाबू नायडू के झूठ को राज्य की जनता के बीच उजागर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि तेलुगुदेशम पार्टी हमारी महिला नेता को परिणाम भुगतने की धमकी देती है। आप हमारी महिला नेत्री का तो कुछ नहीं कर पाओगे लेकिन आंध्र प्रदेश की जनता आपको सबक सिखाने के लिए तैयार है।

 

श्री शाह ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू और वाईएसआर, दोनों की पार्टियां परिवारवादी पार्टियां हैं, भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई पार्टियां हैं, अतः ये दोनों आंध्र प्रदेश का भला नहीं कर सकती, भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लगा सकती, यह केवल और केवल प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है।

 

विकास के प्रति समर्पित मोदी सरकार

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आवास योजना के तहत पांच वर्ष गरीबों के लिए लगभग दो करोड़ घर का निर्माण किया जिसमें 10 लाख से ज्यादा आवास केवल आंध्र प्रदेश में निर्मित किये गए हैं। उन्होंने कहा कि देश भर में 33 करोड़ से ज्यादा गरीबों के बैंक एकाउंट खोले गए हैं जबकि आंध्र प्रदेश में 90 लाख से अधिक गरीबों के जन-धन एकाउंट खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत देश भर में 6 करोड़ से अधिक गरीब महिलाओं को गैस कनेक्शन दिए गए हैं जिसमें से लगभग 91 हजार कनेक्शन आंध्र प्रदेश में जारी किये गए हैं। राज्य में लगभग 37 लाख गरीबों के घर में शौचालय का निर्माण हुआ है और लगभग 27 लाख युवाओं को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत स्वरोजगार के लिए ऋण मिला है।

 

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी 01 फरवरी, 2019 को संसद मेंबजट 2019' लेकर आये जिसमें देश के सभी लघु एवं सीमान्त किसानों को हर वर्ष 6000 सीधे एकाउंट में इनपुट सहायता के रूप में देने का निर्णय लिया है। 40 लाख रुपये के टर्नओवर वाले व्यापारियों को जीएसटी और पांच लाख रुपये तक की सालाना आय वाले मध्यम वर्ग के लोगों को आयकर भरने से छूट दी गई है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश को सुरक्षित और समृद्ध बनाते हुएसबका साथ, सबका विकास' के सिद्धांत के साथ विकास को जन-जन तक पहुंचाया है।

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पार्टी कार्यकर्ताओं और आंध्र प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा कि आंध्र प्रदेश की समृद्धि के लिए 2019 में केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का गठन होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश की हर सीट पर जनता कमल खिलाने का संकल्प ले और आंध्र प्रदेश के सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त करे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को इतना मजबूत बनाइये कि आंध्र प्रदेश में कोई सरकार भारतीय जनता पार्टी की भागीदारी के बिना संभव न हो, मैं आपको आश्वस्त करता हूँ कि भाजपा के समर्थन से बनने वाली आंध्र सरकार भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करेगी।

 

(महेंद्रपांडेय)

कार्यालय सचिव

Tag: 17

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter