bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा भाजपा मीडिया सेंटर, बेंगलुरु में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

 

कर्नाटक की जनता के अपार प्यार, स्नेह और आशीर्वाद से यह हमें पूर्ण विश्वास है कि भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक विधान सभा चुनाव प्रचंड बहुमत से जीतने जा रही है और 130 से ज्यादा सीटों पर जीत के साथ हम श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनायेंगे

*****************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में हम भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा, केंद्र सरकार की उपलब्धियां, कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार की विफलताएं और हमारे घोषणापत्र के सकारात्मक मुद्दों को कर्नाटक के जन-जन तक ले जाने में सफल हुये हैं

*****************

हम चाहते हैं कि कर्नाटक में भी जातिवाद, वंशवाद और तुष्टिकरण को ख़त्म कर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस के एक नये युग की शुरुआत हो और इसके लिए कर्नाटक की जनता राज्य में श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व में भाजपा की पूर्ण बहुमत सरकार बनाने के लिए कृतसंकल्पित हों

*****************

हमारे घोषणापत्र में लिखित सभी घोषणाएं लोकाभिमुख हैं और समाज के सभी वर्गों को समाहित करती हैं। हमारा घोषणापत्र सर्व-स्पर्शी और सर्व-समावेशक है और इसमें कर्नाटक का विकास निहित है

*****************

जनता द्वारा लगातार नकारे जाने से हताश और निराश कांग्रेस पार्टी अपनी परंपरागत आदत के तहत फिर से अलोकतांत्रिक तरीकों से चुनाव जीतने के कुप्रयास में लग गई है

*****************

राजराजेश्वरीनगर में एक घर से फर्जी आईकार्ड, वोटर रजिस्ट्रेशन पेपर्स, प्रिंटर्स और कम्प्युटर की बरामदगी बताती है कि कांग्रेस किस तरह येन-केन-प्रकारेण चुनाव जीतने के लिए छटपटा रही है। कांग्रेस पार्टी का किसी नीति, नियम, सिद्धांत में कोई विश्वास नहीं है

*****************

इस मामले में जांच आगे बढ़ने पर जब कॉर्पोरेटर वेंकटेश और नटराजन की गिरफ्तारी होती है और कांग्रेस के एक विधायक पर एफआईआर होती है, तब कांग्रेस की संलिप्तता और उसका षड्यंत्र अनायास ही जनता के सामने उजागर हो जाता है

*****************

मुख्यमंत्री के चुनाव क्षेत्र बादामी में जिस तरह से छपे में लाखों करोड़ों रुपये पकड़े गए हैं और इसे बांटने के दस्तावेज बरामद हुए हैं, इससे पता चलता है कि कांग्रेस किस तरह चुनाव को प्रभावित कर रही है

*****************

एक न्यूज चैनल ने SDPI और PFI जैसी देश को तोड़ने वाली पार्टियों के साथ कांग्रेस के नापाक गठजोड़ को उजागर कर दिया है

*****************

स्टिंग से जाहिर होता है कि SDPI के प्रत्याशियों ने कांग्रेस के समर्थन में अपने पर्चे वापस ले लिए। इतना ही नहीं, कांग्रेस के दो प्रत्याशी SDPI के जिलाध्यक्ष से समर्थन की गुहार भी लगा रहे हैं और हिंदू विरोधी प्रचार का षड्यंत्र बना रहे हैं

*****************

एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहते हैं कि हम सबको जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं तो दूसरी तरफ उनके ही प्रत्याशी देश को तोड़ने वालों के साथ गठजोड़ कर चुनाव जीतने की साजिश रच रहे हैं

*****************

मैं सिद्धारमैया से पूछना चाहता हूँ कि 5 सालों तक तो आपने टीपू और बहामी साम्राज्य की जयंती मनाई लेकिन आपको एक बार भी कर्नाटक के महान विभूतियों की जयंती मनाने का ख़याल क्यों नहीं आया

*****************

कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार आजाद भारत की सबसे विफल और निकम्मी सरकार है

*****************

येदुरप्पा सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर सहकारी एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों से लिए गए एक लाख रुपये तक के ऋण माफ कर दिए जाएंगे। कर्नाटक में विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 1,50,000 करोड़ रुपये आवंटित किये जायेंगे और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राज्य में हर क्षेत्र में पानी पहुंचे

*****************

सुपारी उत्पादक किसानों की भलाई के लिए 500 करोड़ रुपये की लागत से एक विश्व-स्तरीय रिसर्च सेंटर और नारियल किसानों के लिए तुमकुरु में SEZ बनाया जाएगा। साथ ही, कॉफी किसानों की भलाई के लिए चिकमंगलूर में हर साल इंटरनेशनल कॉफ़ी व्यापार मेले का आयोजन किया जाएगा

*****************

एक ओर सिद्धारमैया सरकार में किसानों की आत्महत्या दर में 173% की वृद्धि हुई तो वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र में भाजपा सरकार के तीन सालों में किसानों की आत्महत्या दर में 42% की कमी आई है, यही दोनों पार्टियों के शासन करने के तरीकों में अंतर स्पष्ट करने के लिए काफी है

*****************

सिद्धारमैया के खिलाफ जनता में अभूतपूर्व रोष, गुस्सा एवं आक्रोश है और इसी कारण सिद्धारमैया को अपनी सीट छोड़ कर बादामी भागना पड़ा है। भले ही सिद्धारमैया अपनी निश्चित हार के डर से बादामी भाग गए हों लेकिन वहां से भी उन्हें करारी शिकस्त झेलनी पड़ेगी

*****************

एक ओर सिद्धारमैया सरकार के प्रति कर्नाटक की जनता में गुस्सा, नकारात्मकता और आक्रोश है तो वहीं दूसरी ओर हर जगह देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के सर्वोच्च नेता श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति जनता का असीम प्यार और विश्वास देखने को मिला है

*****************

सिद्धारमैया सरकार के शासनकाल के दौरान कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 24 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या हुई है और सिद्धारमैया सरकार इसे पॉलिटिक्स का हिस्सा बता रही है। यह लोकतंत्र पर कुठाराघात है

*****************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने कर्नाटक की जनता को लगभग तीन लाख करोड़ रुपये आवंटित कर उन्हें उनका अधिकार दिया है लेकिन कांग्रेस की सरकार ने तो महज 88 हजार करोड़ रुपये देकर उनके अधिकारों को छीनने का पाप किया था

*****************

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज बेंगलुरु के भारतीय जनता पार्टी मीडिया सेंटर में एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और वोटबैंक व तुष्टिकरण की राजनीति कर कर्नाटक की जनता को विकास से वंचित रखने का पाप करने के लिए कांग्रेस पार्टी और सिद्धारमैया सरकार पर जम कर प्रहार किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की अगुआई में और श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व में अगले पांच सालों तक कर्नाटक को विकास के पथ पर अग्रसर करने का भारतीय जनता पार्टी के एजेंडे पर विस्तार से चर्चा की।

 

श्री शाह ने कहा कि कर्नाटक की जनता के अपार प्यार, स्नेह और आशीर्वाद से यह हमें पूर्ण विश्वास है कि भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक विधान सभा चुनाव प्रचंड बहुमत से जीतने जा रही है और 130 से ज्यादा सीटों पर जीत के साथ हम श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनायेंगे।

 

भारतीय जनता पार्टी का चुनाव प्रचार अभियान

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा कर्नाटक विधान सभा चुनाव की घोषणा के बाद से इस प्रेस वार्ता तक भारतीय जनता पार्टी ने देश के प्रधानमंत्री और पार्टी के सर्वोच्च नेता श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा ने एक सघन जनसंपर्क अभियान पूरे कर्नाटक में सफलता पूर्वक पूरा किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में हम भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा, केंद्र सरकार की उपलब्धियां, कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार की विफलताएं और हमारे घोषणापत्र के सकारात्मक मुद्दों को कर्नाटक के जन-जन तक ले जाने में सफल हुये हैं। उन्होंने कहा कि कर्नाटक के लगभग 56,000 बूथों में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जनसंपर्क का काम किया है। उन्होंने कहा कि लगभग 400 से ज्यादा छोटी-बड़ी रैलियाँ और रोड शो के माध्यम से कर्नाटक के जन-जन तक पहुँचने में हम कामयाब रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस चुनाव अभियान में भारतीय जनता पार्टी के 35 प्रमुख नेताओं ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि पूरी भारतीय जनता पार्टी एकजुट होकर इस जनसंपर्क अभियान में जुटी रही और आज बादामी में ऐतिहासिक रोड शो के साथ ये प्रचार अभियान समाप्त होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव प्रचार अभियान में मैंने भी लगभग 50 हजार किलोमीटर की यात्रा की है और सिद्धारमैया सरकार के प्रति कर्नाटक की जनता के गुस्से और आक्रोश को बहुत नजदीक से अनुभव किया है।

 

किसानों की दयनीय स्थिति

 

श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार आजाद भारत की सबसे विफल और निकम्मी सरकार है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में 3500 से अधिक किसान आत्महत्या करने को मजबूर हुए हैं और इस दौरान किसानों की आत्महत्या की वृद्धि दर 173% रही है जो पूरे देश में सबसे अधिक है लेकिन सिद्धारमैया सरकार को इसकी रत्ती भर भी परवाह नहीं रही। उन्होंने कहा कि एक ओर कर्नाटक की कांग्रेस सरकार में किसानों की आत्महत्या दर में 173% की वृद्धि हुई तो वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी सरकार के तीन सालों में किसानों की आत्महत्या दर में 42% की कमी आई है। उन्होंने कहा कि ये आंकड़े ही दोनों पार्टियों के शासन करने के तरीकों को रेखांकित करने के लिए काफी है। उन्होंने कहा कि इससे किसानों के प्रति भारतीय जनता पार्टी की संवेदनशीलता, मोदी सरकार की संवेदनशीलता और भाजपा के नेतृत्व की संवेदनशीलता प्रकट होती है।

 

बदहाल क़ानून-व्यवस्था

 

कर्नाटक की बदहाल क़ानून-व्यवस्था की चर्चा करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सिद्धारमैया सरकार के पांच सालों में बेंगलुरु सहित पूरे कर्नाटक की क़ानून-व्यवस्था बद से बदतर हुई है। उन्होंने कहा कि आज कर्नाटक की हालत ऐसी है कि बड़े-बड़े पुलिस अधिकारियों को आत्महत्या के लिए विवश होना पड़ता है, एक विधायक का बेटा सरेआम लोगों को मारता है लेकिन एफआईआर तक नहीं होता, एक नाबालिक बच्ची के साथ बलात्कार का प्रयास होता है और उसे जान से मार दिया जाता है और जब पिता एफआईआर दर्ज कराने थाने पहुंचता है तो उस पिता की दुकान जला दी जाती है। उन्होंने कहा कि चेन स्नेचिंग के मामले में केवल बेंगलुरु में ही 150% की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया सरकार के शासनकाल के दौरान कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 24 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या हुई है और सिद्धारमैया सरकार इसे पॉलिटिक्स का हिस्सा बता रही है। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को पकड़ने के लिए सिद्धारमैया सरकार में किसी प्रकार का कोई एप्रोच दिखाई नहीं पड़ता, यह लोकतंत्र पर कुठाराघात है। उन्होंने कहा कि पूरे कर्नाटक का विकास बेंगलुरु के ट्रैफिक जाम की तरह फंसा हुआ है।

 

श्री शाह ने कहा कि सिद्धारमैया सरकार ने पूरे बेंगलुरु को तीन माफियाओं के हवाले कर दिया है और जनता को उसकी दया पर जीने को मजबूर कर दिया है। उन्होंने कहा कि हर विधानसभा में सिद्धारमैया के खिलाफ जनता में अभूतपूर्व रोष, गुस्सा एवं आक्रोश है और जनता के इसी गुस्से के कारण सिद्धारमैया को अपनी सीट छोड़ कर बादामी भागना पड़ा है। उन्होंने कहा कि भले ही सिद्धारमैया अपनी निश्चित हार के डर से बादामी भाग गए हों लेकिन वहां से भी उन्हें करारी शिकस्त झेलनी पड़ेगी।

 

मोदी सरकार ने दिया कर्नाटक के जनता को उनका अधिकार

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एक ओर सिद्धारमैया सरकार के प्रति कर्नाटक की जनता में गुस्सा, नकारात्मकता और आक्रोश है तो वहीं दूसरी ओर हर जगह देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के सर्वोच्च नेता श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति जनता का असीम प्यार और विश्वास देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने चार सालों में अब तक कर्नाटक के विकास के लिए लगभग तीन लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का आवंटन किया है और विकास की कई परियोजनाओं की शुरुआत की है लेकिन इसके खिलाफ भी कांग्रेस पार्टी और सिद्धारमैया सरकार दुष्प्रचार फैला रही है कि कौन सा अहसान कर दिया मोदी सरकार ने। उन्होंने कहा कि कर्नाटक को विकास के लिए लगभग तीन लाख करोड़ रुपये का आवंटन (केन्द्रीय अनुदान के रूप में 2,19,000 करोड़ रुपये और अन्य परियोजनाओं के लिए लगभग 80 हजार करोड़ रुपये) करना हमारा कर्तव्य था और हमने अपने कर्तव्य का पालन किया है लेकिन मैं कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहता हूँ कि जब केंद्र में कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन की सरकार थी, तब आपने क्यों कर्नाटक को महज 88 हजार करोड़ रुपये दिए थे? उन्होंने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने कर्नाटक की जनता को उनका अधिकार दिया लेकिन कांग्रेस की सरकार ने तो राज्य की जनता के अधिकारों को छीनने का काम किया था।

 

कांग्रेस द्वारा लोकतंत्र की हत्या 

 

फर्जी आईकार्ड मिलने की घटना पर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए श्री शाह ने कहा कि जनता द्वारा लगातार नकारे जाने से हताश और निराश कांग्रेस पार्टी अपनी परंपरागत आदत के तहत फिर से अलोकतांत्रिक तरीकों से चुनाव जीतने के कुप्रयास में लग गई है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन-चार दिनों में जो घटनाएं मीडिया के माध्यम से बाहर आ रही है, वह न केवल कर्नाटक बल्कि पूरे देश में लोकतंत्र में आस्था रखने वालों के बीच चिंता पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि राजराजेश्वरीनगर में एक घर से फर्जी आईकार्ड, वोटर रजिस्ट्रेशन पेपर्स, प्रिंटर्स और कम्प्युटर की बरामदगी बताती है कि कांग्रेस किस तरह येन-केन-प्रकारेण चुनाव जीतने के लिए छटपटा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का किसी नीति, नियम, सिद्धांत में कोई विश्वास नहीं है और तिस पर वह इसका आरोप भारतीय जनता पार्टी पर लगा रही है। उन्होंने का कि इस मामले में जांच आगे बढ़ने पर जब कॉर्पोरेटर वेंकटेश और नटराजन की गिरफ्तारी होती है और कांग्रेस के एक विधायक पर एफआईआर होती है, तब कांग्रेस की संलिप्तता और उसका षड्यंत्र अनायास ही जनता के सामने उजागर हो जाता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के चुनाव क्षेत्र बादामी में जिस तरह से छपे में लाखों करोड़ों रुपये पकड़े जाते हैं, रुपये बांटने के दस्तावेज बरामद होते हैं, तब पता चलता है कि कांग्रेस किस तरह से चुनाव को प्रभावित करने की कोशिशों में लगी हुई है। उन्होंने कर्नाटक की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि जिन लोगों के फेक आईडी बने हैं, वे कांग्रेस के झांसे में न आयें, भाजपा पूरी मुस्तैदी के साथ हर बूथ पर मौजूद रहेगी ताकि फेक आईडी का कोई गलत प्रयोग न हो।

 

देश को तोड़ने वाली शक्तियों के साथ कांग्रेस का नापाक गठजोड़

 

भाजपा अध्यक्ष ने एक न्यूज चैनल द्वारा किये गए स्टिंग का हवाला देते हुये कहा कि एक न्यूज चैनल ने SDPI और PFI जैसी देश को तोड़ने वाली पार्टियों के साथ कांग्रेस के नापाक गठजोड़ को उजागर किया है। उन्होंने कहा कि स्टिंग से जाहिर होता है कि SDPI के प्रत्याशियों ने कांग्रेस के समर्थन में अपने पर्चे वापस ले लिए। इतना ही नहीं, कांग्रेस के दो प्रत्याशी SDPI के जिलाध्यक्ष से समर्थन की गुहार लगा रहे हैं और हिंदू विरोधी प्रचार का षड्यंत्र बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहते हैं कि हम सबको जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं तो दूसरी तरफ उनके ही प्रत्याशी देश को तोड़ने वालों के साथ गठजोड़ कर चुनाव जीतने की साजिश रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि कर्नाटक की जनता से इसमें कांग्रेस को लेकर और भी हताशा और निराशा पैदा हो रही है।

 

सिद्धारमैया को कन्नड़ अस्मिता का कोई ख़याल नहीं

 

श्री शाह ने कहा कि सिद्धारमैया को चुनाव नजदीक आते ही अचानक से कन्नड़ संस्कृति, संस्कार, कर्नाटक गौरव, कन्नड़ अस्मिता आदि शब्द याद आने लगे हैं वरना चार सालों तक तो ये कम्प्यूटर के ही शब्द थे। कर्नाटक की महान विभूतियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मैं सिद्धारमैया से पूछना चाहता हूँ कि पांच सालों तक तो आपने टीपू जयंती और बहामी साम्राज्य की जयंती मनाई लेकिन आपको एक बार भी कर्नाटक के महान विभूतियों की जयंती मनाने का ख़याल क्यों नहीं आया? उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ऐसा कर के तुष्टीकरण और वोटबैंक की राजनीति को ही आगे बढ़ाने का काम किया है लेकिन वह जनता के सामने पूरी तरह से एक्सपोज हो गई है और उनकी बातों पर जनता अब कोई भरोसा नहीं करती।

 

लोकाभिमुख और सर्वस्पर्शी घोषणापत्र

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कर्नाटक में अगले पांच साल तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार किस एजेंडे पर काम करेगी, इसके लिए पार्टी ने कठिन परिश्रम से राज्य की जनता के साथ संवाद करके घोषणापत्र तैयार किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा हर विधान सभा में जनसंपर्क अभियान चलाया गया और जनता के मन की बात जानने के अलावे राज्य के लगभग 24 लाख लोगों से लिखित रूप में, मेल, रिकॉर्डिंग और मिस्ड कॉल के जरिये उनसे सुझाव लिए गए हैं और इसके बाद भारतीय जनता पार्टी का घोषणापत्र तैयार किया या है।

श्री शाह ने भारतीय जनता पार्टी के घोषणापत्र की कुछ प्रमुख बिन्दुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कर्नाटक में येदुरप्पा सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर सहकारी एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों से लिए गए एक लाख रुपये तक के ऋण माफ कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 1,50,000 करोड़ रुपये आवंटित किये जायेंगे और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राज्य में हर क्षेत्र में पानी पहुंचे। उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादों के मूल्यों में उतार-चढ़ाव से किसानों को होनेवाले नुकसान से राहत देने के लिए 5000 करोड़ रुपयों के विशेषरैयता बंधु मार्केट इंटरवेशन फंडबनाया जाएगा। साथ ही, बंजर भूमि में खेती करने वाले राज्य के लगभग 20 लाख  किसानों को भी 10,000 रुपये नकद सहायता दी जायेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिना किसी जाति अथवा धर्म के भेदभाव के बीपीएल वर्ग की कन्याओं के विवाह के समय उन्हें तीन ग्राम सोने का मंगलसूत्र एवं 25,000 रुपये की सहायता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि गरीबी रेखा नीचे जीवन यापन करनेवाली महिलाओं के सशक्तिकरण के उदेश्य से उन्हें स्मार्ट फोन दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कॉलेज छात्रों को लैपटॉप दिया जाएगा ताकि वे विश्व के युवाओं से प्रतिस्पर्द्धा कर सकें। उन्होंने कहा कि वर्ग III और IV से इंटरव्यू समाप्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मंदिरों के रख-रखाव तथा मंदिरों की व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए 500 करोड़ रुपये की राशि से अलग कोष बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मंदिरों से जो पैसा राज्य सरकार को मिलता है, इसमें से एक पैसा भी राज्य सरकार नहीं लेगी और मंदिरों से अर्जित आय को पर्यटन और मंदिरों के लिए ही खर्च किया जाएगा।

श्री शाह ने कहा कि एसटी/एससी छात्रों के भविष्य को बेहतर बनाने के उद्देश्य से महर्षि बाल्मीकि एसटी स्कॉलरशिप और बाबू जगजीवन राम एससी स्कॉलरशिप की शुरुआत की जायेगी। उन्होंने कहा कि बेंगलुरु शहर के लिए एक नया ब्लूप्रिंटन्यू बेंगलुरु एक्टलागू किया जाएगा ताकि सिद्धारमैया सरकार के दौरान गार्डन सिटी से गार्बेज सिटी ने तब्दील हो चुके बेंगलुरु को स्वच्छ , समृद्ध और सुंदर बनाया जा सके और इन्फ्रास्ट्रक्चर में आने वाली अड़चनों को दूर किया जा सके।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हम चाहते हैं कि सुपारी उत्पादक किसानों को इसमें से बाहर निकाला जाए, इसके लिए राज्य में बनने वाली भाजपा सरकार सुपारी के औषधीय गुणों के अध्ययन के लिए 500 करोड़ रुपये की लागत से एक विश्व-स्तरीय रिसर्च सेंटर बनायेगी ताकि सुपारी पर से लांक्षण को ख़त्म किया जा सके। उन्होंने कहा कि नारियल किसानों के लिए तुमकुरु में स्पेशल इकॉनोमिक जोन (SEZ) बनाया जाएगा और कॉफी किसानों की भलाई के लिए चिकमंगलूर में हर साल इंटरनेशनल कॉफ़ी व्यापार मेले का आयोजन किया जाएगा।

श्री शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के घोषणापत्र में लिखित सभी घोषणाएं लोकाभिमुख हैं और समाज के सभी वर्गों को समाहित करती हैं। उन्होंने कहा कि हमारा घोषणापत्र सर्व-स्पर्शी और सर्व-समावेशक है और इसमें कर्नाटक का विकास निहित है।

 

मोदी सरकार देश के विकास के लिए और जनता की सेवा में सदैव तत्पर

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज देश के 20 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें जनता की अहर्निश सेवा में लगी हुई हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की मोदी सरकार ने देश के गाँव, गरीब, किसान, दलित, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं के जीवन-स्तर को ऊपर उठाने के लिए लगभग 116 से अधिक योजनाओं की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, जन-धन योजना, जीवन बीमा योजना, ग्रामीण विद्युतीकरण योजना, टीकाकरण का अभियान जैसी कई योजनायें लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव ला रही हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में देश की सीमाएं सुरक्षित हुई हैं, देश का परचम पूरे विश्व में लहराया है, भारत की साख बढ़ी है और भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की अग्रिम में से एक बनी है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों की आय को दुगुना करने एवं उनके जीवन में बदलाव लाने के लिए फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागत मूल्य का डेढ़ गुना करने का निर्णय लिया है। साथ ही, गरीब लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से देश के लगभग 10 करोड़ परिवारों अर्थात् 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जा रहा है जो अपने आप में एक ऐतिहासिक कदम है।  

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की अगुआई में देश में चल रही विकास यात्रा में श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व में कर्नाटक भी शरीक हो और वह भी मोदी सरकार केअंत्योदय' औरसबका साथ, सबका सिद्धांत' के आधार पर कर्नाटक में विकास की क्रांति लाये, इसलिए मैं कर्नाटक की जनता से भारतीय जनता पार्टी को काम करने का मौक़ा देने की अपील करने आया हूँ। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि कर्नाटक में भी जातिवाद, वंशवाद और तुष्टिकरण को ख़त्म कर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस के एक नये युग की शुरुआत हो, विकास के आधार पर राजनीति की शुरुआत हो और इसके लिए कर्नाटक की जनता राज्य में श्री येदुरप्पा जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत सरकार बनाने के लिए कृतसंकल्पित हों।

 

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

 

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter