bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा कर्नाटक के सूरतकल (दक्षिण कन्नड़ जिला) में आयोजित प्रेस वार्ता में दिये गये संबोधन के मुख्य बिंदु

कर्नाटक की जनता सिद्धारमैया सरकार में थ्री एम (3M) अर्थात् मर्डर, माफिया राज और भ्रष्ट मिनिस्टर  से त्रस्त है और त्राहि-त्राहि कर रही है

***************

कर्नाटक की जनता की प्रबल इच्छा है कि कर्नाटक की गुंडा गवर्नेंस सरकार से मुक्ति पाकर येदुरप्पा जी के नेतृत्व में गुड गवर्नेंस की सरकार की ओर जाया जाय, कर्नाटक के हर हिस्से में सर्वत्र इसी प्रकार का माहौल है

***************

कर्नाटक की जनता कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार को बदलने के लिए तैयार बैठी है और चुनाव के दिन की राह देख रही है,  कर्नाटक में भी प्रचंड बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार आने वाली है

***************

13वें वित्त आयोग में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने कर्नाटक को जहां केवल 88583 करोड़ रुपये दिए थे, वहीं 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने कर्नाटक सरकार को 2,19,506 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं जो यूपीए सरकार की तुलना में लगभग ढाई गुना ज्यादा है

***************

14वें वित्त आयोग की अनुदान राशि के अलावे मोदी सरकार ने कर्नाटक के विकास के लिए विभिन्न परियोजनाओं में 1,10,000 करोड़ रुपये और अधिक दिए हैं

***************

सिद्धारमैया सरकार अब तक की सभी राज्य सरकारों में भ्रष्टतम सरकार है। कांग्रेस की कर्नाटक सरकार ने हर कदम पर भ्रष्टाचार किया है और जनता के पैसे को लूटा है

***************

देश में एक भी ऐसा मुख्यमंत्री नहीं है जिसके कलाई पर 40 लाख की घड़ी हो, एक भी ऐसी सरकार नहीं है जिसके मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप में रेड पड़ी हो, कई बेनामी संपत्तियां पकड़ी भी गई हो, मंत्रियों पर हत्या तक के आरोप हों लेकिन उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त ना किया जाए।

***************

सिद्धारमैया सरकार के चार साल में संघ और भारतीय जनता पार्टी के 22 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है और सरकार के माथे पर जूं तक नहीं रेंगती। इस प्रकार का आइडियोलोजिकल विक्टिमाइजेशन और पॉलिटिकल विक्टिमाइजेशन मैंने अपने जीवन में नहीं देखा।

***************

कर्नाटक में तुष्टीकरण की राजनीति चरम पर है। केस के मेरिट में गए बगैर PFI और SDPI पर से सारे केस वापस लिए जा रहे हैं। जो साम्प्रदायिक माहौल बनाना चाहते हैं, जो देश विरोधी ताकते हैं, उनको आप क्या संदेश देना चाहते हैं। वोट बैंक की पॉलिटिक्स की भी कोई सीमा होती है

***************

कभी होम डिपार्टमेंट एक सर्कुलर निकाल देता है कि निर्दोष माइनोरिटी पर से केस वापस ले लिया जाएँ। यह घोर असंवैधानिक प्रक्रिया है और लॉ एंड ऑर्डर को बिगाड़ने वाली स्थिति है

***************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के गाँव, गरीब, किसान, दलित, मजदूर, पिछड़े, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं के कल्याण के लिए 112 योजनाओं की शुरुआत की है लेकिन कर्नाटक में ये योजनायें अंतिम व्यक्ति तक पहुँच ही नहीं रही, इसमें भी पार्टी पॉलिटिक्स हो रही है

***************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज कर्नाटक के सांगठनिक प्रवास के दूसरे दिन सूरतकल (दक्षिणी कन्नड़ जिला) में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और राज्य की बदहाली के लिए कांग्रेस की येदुरप्पा सरकार पर जम कर प्रहार किया। इसके पहले उन्होंने दो नवशक्ति समावेश में चार विधानसभाओं के प्रत्येक बूथ से आये 9-9 कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित किया। प्रेस कांफ्रेंस के पश्चात् वे  कटिपल्ला (सूरतकल के नजदीक) में भाजपा कार्यकर्ता स्वर्गीय श्री दीपक राव के घर गए और शोक संतप्त परिजनों से मुलाक़ात की। ज्ञात हो कि तीन जनवरी, 2018 को भाजपा कार्यकर्ता श्री दीपक राव की नृशंस हत्या कटिपल्ला में कर दी गई थी।

श्री शाह ने कहा कि कर्नाटक की जनता कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार को बदलने के लिए तैयार बैठी है और चुनाव के दिन की राह देख रही है। उन्होंने कहा कि जहां तक पब्लिक परसेप्शन की बात है, अब कर्नाटक की कांग्रेस सरकार के दिन पूरे हो गए हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया सरकार अब तक की सभी राज्य सरकारों में भ्रष्टतम सरकार है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की कर्नाटक सरकार ने हर कदम पर भ्रष्टाचार किया है और जनता के पैसे को लूटा है। उन्होंने कहा कि देश में एक भी ऐसा मुख्यमंत्री नहीं है जिसके कलाई पर 40 लाख की घड़ी हो, एक भी ऐसी सरकार नहीं है जिसके मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप में रेड पड़ी हो, कई बेनामी संपत्तियां पकड़ी भी गई हो, मंत्रियों पर हत्या तक के आरोप हों लेकिन उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त ना किया जाए। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कर्नाटक की जनता सिद्धारमैया सरकार में थ्री एम अर्थात् मर्डर, माफिया राज और भ्रष्ट मिनिस्टर  से त्रस्त है और त्राहि-त्राहि कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य जनता की प्रबल इच्छा है कि कर्नाटक की गुंडा गवर्नेंस सरकार से मुक्ति पाकर येदुरप्पा जी के नेतृत्व में गुड गवर्नेंस की सरकार की ओर जाया जाय, कर्नाटक के हर हिस्से में सर्वत्र इसी प्रकार का माहौल है। 

श्री शाह ने कहा कि सिद्धारमैया सरकार के चार साल में संघ और भारतीय जनता पार्टी के 22 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है और सरकार के माथे पर जूं तक नहीं रेंगती। उन्होंने कहा कि मैंने इस प्रकार का आइडियोलोजिकल विक्टिमाइजेशन और पॉलिटिकल विक्टिमाइजेशन अपने जीवन में नहीं देखा। उन्होंने कहा कि चुन-चुनकर हमारे कार्यकर्ताओं की हत्या हो रही है। उन्होंने कहा कि मैं प्रेस कांफ्रेंस के पश्चात् मैं पार्टी कार्यकर्ता स्वर्गीय श्री दीपक राव जी के घर जाने वाला हूँ जिनकी नृशंस हत्या कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि इसकी जांच करने के बजाय तुष्टीकरण की राजनीति चरम पर है। उन्होंने कहा कि केस के मेरिट में गए बगैर PFI और SDPI पर से सारे केस वापस लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो साम्प्रदायिक माहौल बनाना चाहते हैं, जो देश विरोधी ताकते हैं, उनको आप क्या संदेश देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वोट बैंक की पॉलिटिक्स की भी कोई सीमा होती है। उन्होंने कहा कि कभी होम डिपार्टमेंट एक सर्कुलर निकाल देता है कि निर्दोष माइनोरिटी पर से केस वापस ले लिया जाएँ। उन्होंने कहा कि यह घोर असंवैधानिक प्रक्रिया है और लॉ एंड ऑर्डर को बिगाड़ने वाली स्थिति है। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया सरकार यह न सोचे कि कर्नाटक की जनता को इस सच्चाई का पता नहीं है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से सिद्धारमैया सरकार के चार सालों में घोटाले हुये हैं, विकास रुका पड़ा है, तुष्टीकरण की राजनीति चल रही है, इससे कर्नाटक की जनता त्रस्त है और बदलाव के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि ये जनता का सिद्धारमैया सरकार के खिलाफ आक्रोश ही है कि जब येदुरप्पा जी के नेतृत्व में कर्नाटक में हमारी परिवर्तन यात्रा निकली तो जनता की ओर से इनका अभूतपूर्व स्वागत किया गया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सिद्धारमैया सरकार कहते हैं कि मोदी सरकार ने चार सालों में कर्नाटक के लिए क्या किया? उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने कर्नाटक को जहां केवल 88,583 करोड़ रुपये दिए थे, वहीं 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने कर्नाटक सरकार को 2,19,506 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं जो यूपीए सरकार की तुलना में लगभग ढाई गुना ज्यादा है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त उज्जवल डिस्कॉम योजना के लिए लगभग 4300 करोड़, डिस्ट्रिक्ट मिनिरल फंड के तौर पर 34533 करोड़, स्मार्ट सिटी के लिए 960 करोड़, अमृत योजना के लिए 4953 कोर्ड, स्वच्छ भारत अभियान के लिए 204 करोड़, बेंगलुरु मेट्रो के लिए 2600 करोड़, स्वायल हेल्थ कार्ड के लिए 31 करोड़, प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के लिए 405 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 219 करोड़ और नये सड़कों के निर्माण के लिए 50 प्रोजेक्ट्स हेतु लगभग 27 हजार करोड़ रुपये दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह कर्नाटक को 14वें वित्त आयोग की अनुदान राशि के अलावे विकास के लिए विभिन्न परियोजनाओं में 1,10,000 करोड़ रुपये और अधिक मिले हैं। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में मुद्रा योजना के तहत 39 लाख लोन जारी हुये हैं जिसके अंतर्गत 39,441 करोड़ रुपये निर्गत किये जा चुके हैं, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत राज्य में 6.12 लाख गैस कनेक्शन वितरित किये गए हैं,और 11 करोड़ जन-धन एकाउंट खोले गए हैं। 

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के गाँव, गरीब, किसान, दलित, मजदूर, पिछड़े, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं के कल्याण के लिए 112 योजनाओं की शुरुआत की है लेकिन कर्नाटक में ये योजनायें अंतिम व्यक्ति तक पहुँच ही नहीं रही, इसमें भी पार्टी पॉलिटिक्स हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में 2014 से भारतीय जनता पार्टी की जो विजय यात्रा शुरू हुई हैं, वह पिछले चार सालों से अनवरत जारी है और  कर्नाटक में भी हम प्रचंड बहुमत के साथ विजयी होंगे।

 

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

Tag: 9 | 11

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter