bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा भगवान् बिरसा मुंडा की पावन जन्मभूमि उलिहातू, खूंटी में ‘सेवा दिवस' कार्यक्रम के तहत आयोजित जन विकास योजनाओं की शुरुआत करते हुए दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

भगवान् बिरसा मुंडा ने एक आदिवासी घर में जन्म लेकर केवल 25 वर्ष की आयु में अंग्रेजों के खिलाफ जो लड़ाई लड़ी, वह अप्रतिम शौर्य एवं वीरता का प्रतीक है। मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि न केवल झारखंड बल्कि पूरा राष्ट्र भगवान् बिरसा मुंडा का सदैव ऋणी रहेगा ****************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्मदिन ‘सेवा दिवस' के दिन 19 आदिवासी गाँवों के विकास का शिलान्यास करने का मुझे सौभाग्य मिला है जहां पर स्वराज के लिए लड़ने वाले वीर शहीदों का जन्म हुआ था। भगवान् बिरसा मुंडा की जन्मभूमि पर सेवा दिवस मनाने से ज्यादा उपयुक्त जगह देश में कोई और नहीं हो सकती ****************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश की आजादी के लिए जान देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के जन्म-स्थानों को आजादी के 75 साल पूरे होने के पहले पूर्ण रूप से विकसति करने का आह्वान किया है ****************

जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व अर्पित कर दिया, यदि उनके गाँवों को हम आजादी के 70 साल बाद भी विकसित नहीं कर पाते तो हम उनको अपनी सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित नहीं कर पायेंगे ****************

श्री रघुबर दास के नेतृत्व में झारखंड की भाजपा सरकार राज्य के 19 आदिवासी गाँवों का चयन कर हर गाँव के अंदर पक्का मकान, बिजली, गैस कनेक्शन, शुद्ध पीने का पानी और रोड कनेक्टिविटी देने का जो निर्णय लिया है, मैं मानता हूँ कि यह उन सभी स्वतंत्रता सेनानियों को हमारी ओर से सच्ची श्रद्धांजलि है ****************

सरकारें इसलिए होती है कि जहां विकास नहीं पहुंचा है, वहां विकास पहुंचाया जा सके और जब झारखंड के सुदूर आदिवासी क्षेत्रों में विकास पहुंचता हुआ देखते हैं तब यह विश्वास होता है कि पहाड़ों, जंगलों में रहनेवाले आदिवासी भाइयों-बहनों को भी आजादी का फल मिलने की शुरुआत हो गई ****************

हम सब आज के इस शुभ सेवा दिवस के दिन संकल्प लें कि हम भगवान् बिरसा मुंडा के बताये हुए स्वधर्म और स्वराज के रास्ते पर जीवन पर्यंत काम करते रहेंगे और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वराज को सुराज में तब्दील करने के यज्ञ में अपनी भूमिका से पीछे नहीं हटेंगे ****************

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज महान स्वतंत्रता सेनानी भगवान् बिरसा मुंडा के गाँव उलिहातू, खूंटी (झारखंड) में सेवा दिवस कार्यक्रम के तहत आयोजित कई जन विकास योजनाओं की शुरुआत की। इस अवसर पर उन्होंने भगवान् बिरसा मुंडा और वीर सेनानी गया मुंडा के परिजनों को भी सम्मानित किया। ज्ञात हो कि 17 सितंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का जन्मदिन है और इस दिन को भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकारों एवं संगठन ने सेवा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने भगवान् बिरसा मुंडा की जन्मभूमि उलिहातू में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। जनसभा को संबोधित करने के पश्चात् उन्होंने राज्य सरकार द्वारा आस पास के 19 आदिवासी गाँवों के विकास के लिए शुरू की जा रही योजनाओं का शिलान्यास भी किया। तत्पश्चात् उन्होंने उलिहातू में गरीबों के लिए आयोजित मेडिकल कैंप का शुभारंभ भी किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भगवान् बिरसा मुंडा के जीवन चरित्र एवं झारखंड के वीर शहीदों की जीवनी पर आधारित पुस्तिकाओं का भी विमोचन किया। जनसभा को संबोधित करते हुए श्री शाह ने कहा कि आज मैं भगवान् बिरसा मुंडा की जन्मभूमि उलीहातू में आकर अपने आप को बहुत भाग्यशाली समझता हूँ। उन्होंने कहा कि आज हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का जन्मदिन है और आज भारतीय जनता पार्टी एवं देश के करोड़ों लोग इस जन्मदिन को ‘सेवा दिवस' के रूप में मना रहे हैं, आज उसी दिन 19 आदिवासी गाँवों के विकास का शिलान्यास करने का मुझे सौभाग्य मुझे उलिहातू में मिला है जहां पर इस स्वराज के लिए लड़ने वाले शहीदों का जन्म हुआ था। उन्होंने कहा कि एक आरोग्य शिविर भी यहाँ पर झारखंड सरकार के द्वारा लगाया गया है। उन्होंने कहा कि भगवान् बिरसा मुंडा की जन्मभूमि पर सेवा दिवस मनाने से ज्यादा उपयुक्त जगह देश में कोई और नहीं हो सकती। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब पूरा देश अंग्रेजों की गुलामी से आज़ाद होने के लिए छटपटा रहा था, उस वक्त झारखंड भी पीछे नहीं था। उन्होंने कहा कि भगवान् बिरसा मुंडा और गया मुंडा के नेतृत्व में झारखंड ने देश के स्वातंत्र्य संग्राम में अपने प्राणों की आहुति दी। उन्होंने कहा कि नीलांबर-पीतांबर का आंदोलन हो, सिद्धू-कान्हू का संघर्ष हो या दिवा किशुन का बलिदान, झारखंड वासियों ने, झारखंड के आदिवासी भाइयों ने सदैव अपने ह्रदय के भीतर आजादी की लौ को बरकरार रखा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश की आजादी के लिए जान देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के जन्म-स्थानों को आजादी के 75 साल पूरे होने के पहले पूर्ण रूप से विकसति करने का आह्वान किया है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व अर्पित कर दिया, यदि उनके गाँवों को हम आजादी के 70 साल बाद भी विकसित नहीं कर पाते तो हम उनको अपनी सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित नहीं कर पायेंगे। उन्होंने कहा कि श्री रघुबर दास के नेतृत्व में झारखंड की भाजपा सरकार राज्य के 19 आदिवासी गाँवों का चयन कर हर गाँव के अंदर पक्का मकान, बिजली, गैस कनेक्शन, शुद्ध पीने का पानी और रोड कनेक्टिविटी देने का जो निर्णय लिया है, मैं मानता हूँ कि यह उन सभी स्वतंत्रता सेनानियों को हमारी ओर से सच्ची श्रद्धांजलि है। श्री शाह ने कहा कि सरकारें इसलिए होती है कि जहां विकास नहीं पहुंचा है, वहां विकास पहुंचाया जा सके और जब झारखंड के सुदूर आदिवासी क्षेत्रों में विकास पहुंचता हुआ देखते हैं तब यह विश्वास होता है कि पहाड़ों, जंगलों में रहनेवाले आदिवासी भाइयों-बहनों को भी आजादी का फल मिलने की शुरुआत हो गई है। उन्होंने कहा कि मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि न केवल झारखंड बल्कि पूरा राष्ट्र भगवान् बिरसा मुंडा का सदैव ऋणी रहेगा। उन्होंने कहा कि एक आदिवासी घर में जन्म लेकर केवल 25 वर्ष की आयु में अंग्रेजों के खिलाफ जो लड़ाई लड़ी, वह अप्रतिम शौर्य एवं वीरता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि आजादी के लिए उत्कृष्ट बलिदान देने वालों की सूची में भगवान् बिरसा मुंडा का स्थान हमेशा प्रथम क्रमांक वाली सूची में आयेगा। उन्होंने कहा कि हम सब आज के इस शुभ सेवा दिवस के दिन संकल्प लें कि हम भगवान् बिरसा मुंडा के बताये हुए स्वधर्म और स्वराज के रास्ते पर जीवन पर्यंत काम करते रहेंगे और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वराज को सुराज में तब्दील करने के यज्ञ में अपनी भूमिका से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि भगवान् बिरसा मुंडा की स्मृति को चिरंजीवी बनाने के लिए झारखंड की भाजपा सरकार ने जो काम किया है, उसे मैं साधुवाद देते हुए भारतीय जनता पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री श्री रघुबर दास जी को बहुत बधाई देना चाहता हूँ। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर भगवान् बिरसा मुंडा के जीवन चरित्र एवं झारखंड के वीर शहीदों की जीवनी पर पुस्तिकाओं का भी विमोचन किया गया है, यह आने वाली कई पीढ़ियों के लिए प्रेरणास्रोत का काम करेगी।

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

Tag: 17

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter