bharatiya janata party (BJP) logo

Press Releases

Salient points of Hon'ble Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing a public meeting in Guntur (Andhra Pradesh) on 10 Feb 2019

Accessibility
Read In English

 

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गुंटूर, आंध्र प्रदेश में आयोजित विशाल जन-सभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

 

केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार आंध्र प्रदेश के विकास के लिए कटिबद्ध है। मेरा वादा है कि आंध्र प्रदेश के विकास के लिए पूरे समर्पण भाव से हमारी विकास यात्रा जारी रहेगी

********************

2014 में जब हमारी सरकार बनी तो हमने आंध्र प्रदेश के लिए अलग से स्पेशल पैकेज बनाया ताकि आंध्र प्रदेश को उतनी मदद जरूर मिले जितनी विशेष राज्य का दर्जा मिलने पर होती। इस विशेष पैकेज को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने धन्यवाद भी किया था

********************

केंद्र की भारतीय जनता पार्टी-नीत एनडीए सरकार ने आंध्र प्रदेश के लिए पिछले 55 महीने में कोई कमी नहीं छोड़ी लेकिन कमी सिर्फ इतनी रही कि केंद्र सरकार ने जो पैसा आंध्र प्रदेश के विकास के लिए राज्य को भेजा, उसे न तो प्रदेश की तेलुगुदेशम सरकार ने राज्य की भलाई में खर्च किया और न ही प्रदेश की जनता को इसके बारे में बताया

********************

आंध्र प्रदेश के विकास के लिए केंद्र सरकार द्वारा दिए गए विशेष पैकेज का सही इस्तेमाल कर पाने में नाकाम रहने और राज्य का विकास न कर पाने वाली टीडीपी सरकार ने बाद में यू-टर्न ले लिया

********************

चंद्रबाबू कल फोटो ऑप के लिए दिल्ली जाने वाले हैं, बड़े हुजूम लेकर जाने वाले हैं लेकिन दिल्ली आने से पहले और मुझे अपशब्द कहने से पहले उन्हें आंध्र प्रदेश के लोगों को अपने खर्च का ब्योरा देना चाहिए

********************

मैं तेलुगु देशम पार्टी का आभारी हूं कि आज उन्होंने मुझे कहा “Go back Modi” अर्थात् फिर से दिल्ली जाकर बैठो। ऐसा कह कर वे मुझे शुभकामनाएं ही दे रहे हैं

********************

चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के ‘Sunrise’ का वादा किया था लेकिन अपने ‘Son’ को ही ‘Rise’ कराने में वे अब जुट गए हैं

********************

जिन लोगों ने देश को धुएं में जीने के लिए छोड़ दिया था, वे ही अब देश में झूठ का धुआं फैलाने में जुटे हैं। महामिलावट क्लब की संगत का असर ऐसा है कि यहां के मुख्यमंत्री भी आंध्र के विकास के विजन को भूलकर मोदी को अपशब्द देने के कॉम्पिटिशन में कूद गए हैं

********************

डिक्शनरी में जितने भी अपशब्द हैं, वो यहाँ के मुख्यमंत्री ने मोदी के लिए रिजर्व कर दिया है। हर रोज मुझे नए-नए अपशब्द कहते हैं। क्या उनको आंध्र के संस्कारों को इस तरह बदनाम करने का अधिकार है?

********************

मैं तो हैरान हूं कि आखिर आंध्र के मुख्यमंत्री को हो क्या गया है जो वे मुझे बार-बार याद दिलाते हैं कि वे मुझसे बहुत सीनियर हैं। मैं तो कहता हूं कि आप सीनियर हैं, इसलिए आपके सम्मान में हमने कोई कमी नहीं छोड़ी

********************

आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं नए-नए दल से गठबंधन करने में। आप सीनियर हैं खुद के ससुर की पीठ पर छुरा घोंपने में। आप सीनियर हैं आज जिसे अपशब्द कहें, कल फिर उसी के साथ हो जाने में। आप सीनियर हैं आंध्र प्रदेश के सपनों को चूर-चूर करने में

********************

 आज महामिलावट के जिस क्लब में यहां के मुख्यमंत्री शामिल हुए हैं, उसका स्वार्थ सिर्फ अपने राजनीति के दीये को किसी तरह जलाए रखना है। जनहित के मुद्दों पर जब भी यहाँ के मुख्यमंत्री चूकेंगे अपने वादों से तो देश का प्रधान सेवक होने के नाते मैं उन्हें याद जरूर दिलाउंगा

********************

दिल्ली में नामदार परिवार ने हमेशा आंध्र प्रदेश के नेताओं का अपमान ही किया, इसलिए एनटी रामा राव जी ने तेलुगु देशम पार्टी का गठन किया था। उस समय आंध्र प्रदेश का अपमान करने वाले दल एनटीआर को दुष्ट कहते थे और आज नायडू उन्हीं को दोस्त बनाकर बैठे हैं

********************

मैं चंद्रबाबू नायडू को याद दिलाना चाहता हूं कि हमारा उद्देश्य खुद के लिए नहीं, बल्कि राष्ट्र के लिए धन एकत्रित करना है और साथ ही, देश के धन और संसाधनों का उपयोग राष्ट्र के विकास एवं जन-कल्याण के लिए सुनिश्चित करना है

********************

महामिलावट क्लब के सदस्य आज कल डरे हुए हैं, उन्हें नींद नहीं आ रही। यहां के मुख्यमंत्री को तकलीफ है कि आपका यह चौकीदार और केंद्र सरकार उनसे हिसाब मांगती है। पाई-पाई का हिसाब देना पड़ रहा है तो चंद्रबाबू नायडू जी को तकलीफ हो रही है

********************

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुंटूर, आंध्र प्रदेश में एक विशाल जन-सभा को संबोधित किया और आंध्र प्रदेश में विकास की गति को अवरुद्ध करने का पाप करने वाले मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर जोरदार हमला किया। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री आज दक्षिण भारत के तीन राज्यों आंध्र प्रदेश, तमिल नाडु और कर्नाटक के दौरे पर हैं जहां वे कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। गुंटूर में जन-सभा को संबोधित करने के पूर्व उन्होंने लगभग 2,280 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली कृष्णपट्टनम भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड कोस्टल टर्मिनल प्रॉजेक्ट की आधारशिला रखी।

 

तेलुगु में अपने उद्बोधन की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री ने आंध्र की महान जनता को नमन किया और लोक सभा चुनाव में पहली बार वोट डालने वाले युवाओं को शुभकामनाएं दी।

 

श्री मोदी ने कहा कि मैं चंद्रबाबू नायडू को याद दिलाना चाहता हूं कि हमारा उद्देश्य खुद के लिए नहीं, बल्कि राष्ट्र के लिए धन एकत्रित करना है और साथ ही, देश के धन और संसाधनों का उपयोग राष्ट्र के विकास एवं जन-कल्याण के लिए सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि पिछले 55 महीनों में केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश के विकास के लिए पर्याप्त धनराशि जारी की है। हालांकि राज्य की तेलुगु देशम सरकार ने कभी भी सही तरीके से इस निधि का इस्तेमाल राज्य के विकास के लिए नहीं किया। उन्होंने कहा कि 2014 में जब हमारी सरकार बनी तो हमने आंध्र प्रदेश के लिए अलग से स्पेशल पैकेज बनाया ताकि आंध्र प्रदेश को उतनी मदद जरूर मिले जितनी विशेष राज्य का दर्जा मिलने पर होती। इस विशेष पैकेज को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने धन्यवाद भी किया था।

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं गुंटूर से एक झूठ के बड़े अभियान पर विराम लगाना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी-नीत एनडीए सरकार ने आंध्र प्रदेश के लिए पिछले 55 महीने में कोई कमी नहीं छोड़ी लेकिन कमी सिर्फ इतनी रही कि केंद्र सरकार ने जो पैसा आंध्र प्रदेश के विकास के लिए राज्य को भेजा, उसे न तो प्रदेश की तेलुगुदेशम सरकार ने राज्य की भलाई में खर्च किया और न ही प्रदेश की जनता को इसके बारे में बताया। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश के विकास के लिए केंद्र सरकार द्वारा दिए गए विशेष पैकेज का सही इस्तेमाल कर पाने में नाकाम रहने और राज्य का विकास न कर पाने वाली टीडीपी सरकार ने बाद में यू-टर्न ले लिया। उन्होंने राज्य की जनता को विश्वास दिलाते हुए कहा कि मेरा वादा है कि आंध्र प्रदेश के विकास के लिए पूरे समर्पण भाव से हमारी विकास यात्रा जारी रहेगी।

 

श्री मोदी ने कहा कि महान NTR की विरासत संभाल रहे नेता जब अपनी कमियों को छिपाने के लिए दूसरों पर आरोप लगाने लगें, तो समझ लेना चाहिए कि कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ है। जब कोई मुख्यमंत्री सत्य की बजाय झूठ बोलने पर आमादा हो जाय, तो मान लेना चाहिए कि उनपर से जनता का विश्वास उठ चुका है। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू कल फोटो ऑप के लिए दिल्ली जाने वाले हैं, बड़े हुजूम लेकर जाने वाले हैं लेकिन दिल्ली आने से पहले और मुझे अपशब्द कहने से पहले उन्हें आंध्र प्रदेश के लोगों को अपने खर्च का ब्योरा देना चाहिए।

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं तेलुगु देशम पार्टी का आभारी हूं कि आज उन्होंने मुझे कहा “Go back Modi” अर्थात् फिर से दिल्ली जाकर बैठो। उन्होंने कहा कि जब हम स्कूल में पढ़ते थे तो टीचर कहती थीं- गो बैक मतलब वापस सीट पर जाकर बैठो। मैं खुश हूं कि टीडीपी ने मुझे कहा है कि गो बैक - वापस जाकर दिल्ली में बैठो।

 

श्री मोदी ने कहा कि आखिर ऐसी क्या मजबूरी आ गई है कि यहाँ के मुख्यमंत्री नामदारों के सामने सिर झुकाकर बैठ गए हैं। आखिर ऐसा क्या दबाव है कि  वे अपनी पार्टी का ही इतिहास भूल गए। प्रदेश के युवाओं के लिए ये जानना जरूरी है कि दिल्ली में नामदार परिवार ने कभी भी राज्य के नेताओं का सम्मान नहीं किया, हमेशा अपमान ही किया इसलिए एनटी रामा राव जी ने तेलुगु देशम पार्टी का गठन किया था और आंध्र प्रदेश को कांग्रेस मुक्त करने का वादा किया था। उस समय आंध्र प्रदेश का अपमान करने वाले दल एनटीआर को दुष्ट कहते थे और आज नायडू उन्हीं को दोस्त बनाकर बैठे हैं।

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं तो हैरान हूं कि आखिर आंध्र के मुख्यमंत्री को हो क्या गया है जो वे मुझे बार-बार याद दिलाते हैं कि वे मुझसे बहुत सीनियर हैं। मैं तो कहता हूं कि आप सीनियर हैं, इसलिए आपके सम्मान में हमने कोई कमी नहीं छोड़ी। आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं नए-नए दल से गठबंधन करने में। आप सीनियर हैं खुद के ससुर की पीठ पर छुरा घोंपने में। आप सीनियर हैं एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव हारने में, मैं तो उसमें सीनियर हूं नहीं। आप सीनियर हैं आज जिसे अपशब्द कहें, कल फिर उसी के साथ हो जाने में। आप सीनियर हैं आंध्र प्रदेश के सपनों को चूर-चूर करने में। उन्होंने कहा कि सम्मान अपनी जगह है और राज्य का विकास अपनी जगह। उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दों पर जब आप चूकेंगे अपने वादों से तो देश का प्रधान सेवक होने के नाते मैं आपको याद जरूर दिलाउंगा।

 

श्री मोदी ने कहा कि आज महामिलावट के जिस क्लब में यहां के मुख्यमंत्री शामिल हुए हैं, उसका स्वार्थ सिर्फ अपने राजनीति के दीये को किसी तरह जलाए रखना है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने देश को धुएं में जीने के लिए छोड़ दिया था, वे ही अब देश में झूठ का धुआं फैलाने में जुटे हैं। महामिलावट क्लब की संगत का असर ऐसा है कि यहां के मुख्यमंत्री भी आंध्र के विकास के विजन को भूलकर मोदी को अपशब्द देने के कॉम्पिटिशन में कूद गए हैं। डिक्शनरी में जितने भी अपशब्द हैं, वो यहाँ के मुख्यमंत्री ने मोदी के लिए रिजर्व कर दिया है। हर रोज मुझे नए-नए अपशब्द कहते हैं। क्या उनको आंध्र के संस्कारों को इस तरह बदनाम करने का अधिकार है?

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावट क्लब के सदस्य आज कल डरे हुए हैं, उन्हें नींद नहीं आ रही। यहां के मुख्यमंत्री को तकलीफ है कि आपका यह चौकीदार और केंद्र सरकार उनसे हिसाब मांगती है। पहले उन्हें दिल्ली के गलियारों में कभी भी हिसाब नहीं देना पड़ता था। अब मोदी पूछता है कि आंध्र के विकास के लिए जो राशि दी गई, उसकी पाई-पाई का हिसाब दीजिए। यहीं आंध्र के मुख्यमंत्री को अखरता है। आपके चौकीदार ने इनकी नींद हराम कर दी है। पाई-पाई का हिसाब देना पड़ा तो यहां के CM को तकलीफ हो रही है।

 

श्री मोदी ने कहा कि एनटीआर की विरासत संभालने वाले ने उनके सपनों को संवारने का वादा किया था लेकिन उन्होंने अपने ही ससुर की पीठ में छुरा घोंपा है। उन्होंने आंध्र के गरीबों के लिए नई योजनाएं चलाने का वादा किया था लेकिन मोदी की योजनाओं पर ही अपना स्टीकर लगा दिया है। चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के ‘Sunrise’ का वादा किया था लेकिन अपने ‘Son’ को ही ‘Rise’ कराने में वे अब जुट गए हैं।

 

प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की विकास यात्रा को गैस कनेक्शन के हवाले से बताते हुए कहा कि न्यू इंडिया को नई साफ-सुथरी प्रदूषण रहित ताकत बनाने का लक्ष्य है। एक तरफ हम गैस बेस्ड इकॉनमी की बात कर रहे हैें, दूसरी तरफ गरीब परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन देने का काम चल रहा है। पहले स्थिति क्या है और हम कहां पहुंचे हैं इसका अंदाजा गैस कनेक्शन की संख्या से लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देश में गैस कनेक्शन देना 1955 में शुरू हुआ। इसके बाद 60 सालों में लगभग 12 करोड़ गैस कनेक्शन दिए गए। हमारी सरकार अब तक केवल 55 महीनों में ही 13 करोड़ नए गैस कनेक्शन दे चुकी है। इसी का नतीजा है कि जहां साल 2014 में देश की सिर्फ 25% आबादी के पास गैस कनेक्शन था, वहीं आज यह दायरा बढ़कर 90% हो चुका है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार विपरीत परिस्थितियों में तेल और गैस की जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न स्थानों पर तेल भंडार बना रही है।

 

श्री मोदी ने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने "हृदय योजना" के तहत अमरावती को हेरिटेज सिटी के रूप में चुना है। अमरावती को "ऑक्सफोर्ड" भी कहा जाता है और विभिन्न स्थानों के युवा अपने सपनों को पूरा करने के लिए यहां आते हैं। अमरावती महान सांस्कृतिक विरासत और सभ्यताओं वाला शहर है। इस शहर में नए भारत का सेंटर बनने की पूरी क्षमता है। हम आंध्र प्रदेश के विकास के लिए कृतसंकल्पित  हैं।

 

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh