bharatiya janata party (BJP) logo

Press Releases

BJP press release on 09 August 2018

Accessibility

 

भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति

 

प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का निरंतर संकल्प रहा है - एससी/एसटी एक्ट को मजबूत करना, ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देना तथा पंचतीर्थ और गरीब, दलित, पिछड़े, शोषित, वंचित एवं आदिवासियों के उत्थान के लिए कार्य करना

*************

दलित नेताओं, दलित प्रतीकों एवं दलित गौरव का अपमान, ‘मंडल' कमीशन का विरोध और ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक को अवरुद्ध करना कांग्रेस पार्टी की विरासत रही है

*************

अच्छा होगा यदि राहुल गाँधी कांग्रेस पार्टी द्वारा डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर, बाबू जगजीवन राम और सीताराम केसरी जी से किये गए दुर्व्यवहारों के बारे में भी बात करें

*************

मोदी सरकार ने कैबिनेट के फैसलों और लोकतंत्र के मंदिर संसद के माध्यम से अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम में सबसे मजबूत संशोधन सुनिश्चित किया। आखिर अब राहुल गाँधी इसका विरोध क्यों कर रहे हैं?

*************

क्या यह महज एक संयोग है कि जिस वर्ष श्रीमती सोनिया गांधी कांग्रेस में शामिल हुईं, कांग्रेस समर्थित तीसरे मोर्चे की सरकार ने पदोन्नति में आरक्षण का विरोध किया और जिस वर्ष राहुल गाँधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने, कांग्रेस पार्टी ने SC/ ST एक्ट में मजबूत संशोधन और ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक का विरोध किया

*************

कांग्रेस पार्टी ने हमेशा दलित आकांक्षाओं का अपमान ही किया है। दलितों के प्रति कांग्रेस का रवैय्या उपेक्षा और हीनता वाला रहा है

*************

कांग्रेस पार्टी की गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी, शोषित और वंचितों के विरोध की मानसिकता स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है

*************

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज एक-के-बाद-एक कई ट्वीट करते हुए कांग्रेस पार्टी की दलित-विरोधी मानसिकता को देश की जनता के सामने उजागर किया और एससी/एसटी एक्ट में मजबूत संशोधन एवं ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक का विरोध करने के लिए राहुल गाँधी के दोहरे रवैय्ये को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष पर करारा प्रहार किया।

श्री शाह ने राहुल गाँधी को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि राहुल गाँधी जी, जब संसद में बेनकाब होने से और संसद को बाधित करने से आपको कुछ समय मिले तो आप जरा तथ्यों पर भी गौर करने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा-नीत एनडीए सरकार ने कैबिनेट के फैसलों और लोकतंत्र के मंदिर संसद के माध्यम से अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम में सबसे मजबूत संशोधन सुनिश्चित किया। आखिर अब राहुल गाँधी इसका विरोध क्यों कर रहे हैं?   

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा “अच्छा होगा यदि कांग्रेस अध्यक्ष अपनी पार्टी द्वारा डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर, बाबू जगजीवन राम और सीताराम केसरी जी से किये गए दुर्व्यवहारों के बारे में भी बात करें। दलितों के प्रति कांग्रेस का रवैय्या उपेक्षा और हीनता वाला है और वर्षों से कांग्रेस हमेशा से दलित आकांक्षाओं का अपमान ही करती आई है।

श्री शाह ने आगे कहा कि क्या यह महज एक संयोग है कि जिस वर्ष श्रीमती सोनिया गांधी कांग्रेस में शामिल हुईं, कांग्रेस समर्थित तीसरे मोर्चे की सरकार ने पदोन्नति में आरक्षण का विरोध किया और जिस वर्ष राहुल गाँधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने, कांग्रेस पार्टी ने SC/ST एक्ट में मजबूत संशोधन और ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक का विरोध किया! उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी, शोषित और वंचितों के विरोध की मानसिकता स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्रीमान राहुल गांधी जी, आपसे रिसर्च और ईमानदारी की अपेक्षा करना कठिन है लेकिन आपकोमंडलकमीशन के दौरान श्री राजीव गाँधी द्वारा दिए गए भाषण को जरूर पढ़ना चाहिए जब उन्होंने इसका पूरी तरह से विरोध किया था। इससे पिछड़े समुदाय के प्रति कांग्रेस पार्टी के मालिकाना रवैय्ये और घृणा की बू आती है। और, आज राहुल गाँधी दलित कल्याण की बात करते हैं!

श्री शाह ने कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का निरंतर संकल्प रहा है - अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम को मजबूत करना, ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देना तथा पंचतीर्थ और गरीब, दलित, पिछड़े, शोषित, वंचित एवं आदिवासियों के लिए कार्य करना (http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=135764) जबकि कांग्रेस पार्टी की विरासत है - दलित नेताओं एवं दलित गौरव का अपमान, ‘मंडल' कमीशन का विरोध और ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक को अवरुद्ध करना।

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी द्वारा किये गए ट्वीट के लिंक्स:

 

 

 

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh