bharatiya janata party (BJP) logo

Press Releases

भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति 03 अगस्त, 2017.

Accessibility

भारतीय जनता पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रणब बाबू को लिखा गया पत्र सार्वजनिक जीवन में उच्चतम मूल्यों को प्रतिस्थापित करने वाला है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब राजनीति में कटुता और दुराग्रह लगातार बढ़ता जा रहा है, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का प्रणब बाबू को लिखा गया पत्र एक महान परंपरा और आदर्श मूल्यों पर आधारित सोच का द्योतक है, साथ ही यह देश की राजनीति के लिए एक आदर्श भी है। ज्ञात हो कि देश के निवर्तमान राष्ट्रपति आदरणीय श्री प्रणब मुखर्जी जी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उन्हें लिखे गए एक भावुक पत्र को आज सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए इसे दिल को छू लेने वाला बताया है।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्मीय पत्र पर प्रणब बाबू का जो स्नेहिल उत्तर है - यह अलग-अलग विचारधारा के बावजूद पार्टी की राजनीति से ऊपर उठकर पद की गरिमा एवं सार्वजनिक जीवन में उच्चतम मूल्यों को प्रतिस्थापित करने वाला उदाहरण है। उन्होंने कहा कि अलग राजनीतिक विचारधारा से आने के बावजूद प्रणब बाबू के राष्ट्रपति बनने के बाद केंद्र में जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई, तब न मोदी जी को कभी लगा कि प्रणब बाबू की राजनीतिक विचारधारा अलग है और न प्रणब बाबू को ही कभी लगा कि यह किसी और पार्टी की सरकार है। उन्होंने कहा कि यदि संविधान के दायरे में देश के सर्वोच्च पद पर बैठे हुए दो मनीषी संविधान की मर्यादा के अनुसार एक-दूसरे के प्रति सम्मान से काम करते हैं तो किस प्रकार से दोनों पदों की गरिमा बढ़ती है - इसका उदाहरण आदरणीय श्री प्रणब मुखर्जी और श्री नरेन्द्र मोदी जी ने प्रस्तुत किया है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और आदरणीय श्री प्रणब मुखर्जी की राजनीतिक यात्रा अगल-अलग राजनीतिक दलों और जीवनधाराओं के माध्यम से हुई है, इसके बावजूद देश की जनता को विचारधारा और कार्यशैली में कोई अंतर नहीं दिखाई दिया, यह देश के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में अंकित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दोनों राष्ट्र मनीषियों का उद्देश्य केवल समाजसेवा और गरीब-कल्याण ही है और दोनों ने तीन साल तक पूरी ऊर्जा के साथ देश के पुनर्निर्माण के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और निवर्तमान राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी जी, दोनों के पास सार्वजनिक जीवन, राष्ट्रीय राजनीति और विकासोन्मुखी लोक-कल्याणकारी नीतियों का लंबा अनुभव है और दोनों राष्ट्र के अमूल्य धरोहर हैं।

(महेंद्र पांडेय) कार्यालय सचिव

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh